गर्मियों में घूमनें की जगहें। गुजरात की मशहूर जगहें । गुजरात पर्यटन स्थल। Travel Teacher

नमस्कार दोस्तों, फिलहाल पुरी दुनिया में Covid 19 नामक महामारी चल रही हैं जिसे हम कोरोना वाईरस या कोरोना से जानते हैं। पुरी दुनिया यह कोरोनो नामक राक्षस से डट कर लड रही हैं, भारत सहित बहुत सारें देशो ने सुरक्षा को ध्यान में रख कर लॉकडाउन लगा रखा हैं जो कोरोना को हराने के लिए बहुत ही सुरक्षित और सराहनीय कदम हैं। दोस्तों, अपने लिए अपने परिवार के लिए, मानवता के लिए और इस लडाई के मुख्य हिरो डॉक्टर, नर्स, सफाईकर्मी, पुलिस जैसे यौद्धाओं के लिए मेरी आपसे नम्र बिनती हैं, 'घर पर रहे सुरक्षित रहे' हर व्यक्ति से कम से कम एक मिटर की दुरी बनायें रखें, शरीर की स्वच्छता पर जरुर ध्यान दें, बेशक... हम बहुत ही जल्द इस लडाई को जीत लेंगे। दोस्तों, यह पोस्ट कोराना से लडने वाले योद्धाओं और लॉकडाउन तोडने वाले कायर दोनो के लिए हैं, क्यों की पर्यटन के शौखीन तो दोनो हो सकते हैं। लॉकडाउन के बाद जब जनजीवन फिरसे सामान्य हो जायेगा तब आप घूमनें के लिए खूबसूरत जगहें में गुजरात की यह जगहें नकार नही सकते! गुजरात में धार्मिक स्थल, सांस्कृतिक स्थल, विश्व विरासत स्थल के अलावा साफ समुद्र किनारा, हरे भरे पहाड-पर्वत, घने जंगल, सरोवर जैसी बहुत सी जगहें हैं जहा पर्यटन भरा पडा हैं, मानो जैसे गुजरात को प्रकृति का विशेष वरदान मीला हो। दोस्तों, आप गर्म मौसम से उबल चुके हो और कम तापमान वाली जगहो पर घूमना चाहते हो, जाना चाहते हो तो गुजरात की यह जगहें आपको कम खर्चें में हिमालय के हिल स्टेशन जैसा मजा देगी।
सापुतारा हिल स्टेशन। Saputara Hill station
सापुतारा गुजरात की मशहूर जगह में से एक हैं जो गुजरात का बहुत ही प्रसिद्ध और खूबसूरत हिल स्टेशन हैं, मानो जैसे प्रकृति का विशेष आशिर्वाद मीला हो। लगभग 870 मी. की ऊंचाई पर स्थित यह हिल स्टेशन का तापमान 30 डिग्री से कम ही रहता हैं, इसे रोमेंटीक जगह से भी पहचाना जाता हैं।
सापुतारा के चारों तरफ फैली हरी भरी पहाडीयां, घने जंगल, झील, प्रकृति मनोरम्य नजारें यहा आने वाले सहेलानीयों को मंत्रमुग्ध कर देती हैं। सापुतारा में आप अकेले, जीवनसाथी, परिवार या मित्रो के साथ बोटींग, पैरा ग्लाईडींग, सनसेट, सनराईझ, रोप वे, कला प्रदर्शन, शिल्प की चिजें खरीदना, प्रकृति से जुडना, ठंडी हवा का मजा लेना और बहुत सी अन्य कुदरती करामतें का आनंद ले सकते हैं। सुरत से लगभग 172km दुरी पर बसा यह सापुतारा हिल स्टेशन आपको प्रकृति से जुडने, गर्मी से छुटकारा पाने, छुट्टीयां बिताने, परिवार से जुडने में भरपुर मनोरंजन देने वाला गुजरात का मशहूर पर्यटन स्थल हैं। ज्यादा जानकारी के लिए यहा क्लिक करें..
दीव। Diu
दीव गुजरात राज्य का हिस्सा नही हैं वह एक केंद्र साशित प्रदेश हैं लेकिन भूगोल की द्रष्टी से दिव गुजरात से गहराइ से जुडा हुआ हैं। साफ-स्वच्छ समुद्र किनारे छुट्टीयां बिताने के लिए बहुत कुछ हैं! यहा का मनोरम्य वातावरण मन को गहरी ताजगी देने वाला हैं। गुजरात में पिकनिक प्लेस के लिए दीव से बढीयां अन्य कोई समुद्र किनारा नही हो सकता हैं। नागोआ बीच, घोघला बीच और जलंधर बीच दीव के मुख्य बीच हैं, जिसमे मशहूर नागोआ बीच सहेलाणीयों का प्रथम आकर्षण का केंद्र हैं, पर्यटक यहां घोघला बीच और जलंधर बीच का भी मजा नही गवाते।
यहा आप सन बाथींग, पेरासेलिंग, स्विमिंग जैसी मजेदार प्रवृतीओं का मजा ले सकते हैं। दीव की प्रसिद्ध जगहें में बीच के अलावा नाइडा केव्स, पानी कोठा, दीव किला, सी-सेल म्युजियम, गंगेश्वर मंदिर, खुकरी मेमोरीयल वगैरा मुख्य हैं। रात्रि के दौरान पानी कोठा पर दिखाई देने वाली स्पेशीयल लाईट ईफेक्ट आपको अचंभित कर देगी, यहां आप उपलब्ध बोट के जरीए पहुच सकते हैं, क्योंकी यह जगह समुद्र के बिच में हैं। दीव की यह सभी जगहें देखने लायक जगहें और घुमने लायक जगहें हैं, आप अकेले हो, साथी के साथ हो, परिवार के साथ हो, चाहे अपने मित्रों के साथ हो! यह सभी जगहें आपका हर तरह से भरपूर मनोरंजन कर सकती हैं, छुट्टीयाो का मजा लेने के लिए यहां हर ओप्शन मौजुद हैं। वैसे तो गुजरात में कानुनन शराब बंदी हैं पर दीव केंद्र साशित प्रदेश होने के कारण यहां बहुत सारे बार भी उपलब्ध हैं, जो यहां आने वाले पर्यटक, सहेलाणी और शराबी पुरी छुट-छाट के साथ शराब का मजा भी ले सकते हैं। दीव मे काफी सारी होटल-गेस्ट हाउस उपलब्ध हैं, आप चाहे तो उना भी रुक सकते हैं। गर्मियों के दिनों में गुजरात में छुट्टीयां बिताने के लिए दीव एक बढीयां गंतव्य हैं। ज्यादा जानकारी के लिए यहा क्लिक करें...
कांकरिया झील। Kankariya Zeel
अगर आप गुजरात में घूमने की अच्छी जगह की तलाश में हैं तो कंकरिया झील एक बहुत ही अच्छा विकल्प है। अहमदाबाद की मशहूर और गुजरात की बडी झीलो में जिसकी गिनती होती हैं वो कांकरियां झील अहमदाबाद रेलवे स्टेशन से लगभग 3km की दुरी पर हैं। लगभग 2.25 किलोमीटर व्यास वाली इस झील के बीच में बना हुआ द्वीप महल इसकी खूबसूरती और भी बढा देता है, झील के किनारो पे बने हुए मनमोहक बगीचे यहा आने वाले सहेलाणीयों को प्रकृति की सुंदरता और शांति का अहेसास कराते हैं।
बच्चों को खेलने के लिए बालवाटीका और देखने के लिए चिडियाघर भी मौजुद हैं। यहां स्थित कांकरिया चिड़ियाघर लगभग 21 acre में फैला हुआ है और इसमें आप कई तरह के जानवर देख सकते हैं। अहमदाबाद की इस बडी झील में आप बोटींग भी कर सकते हैं, जो कांकरियां झील का एक मुख्य आकर्षण भी रहा हैं। यहां पर हर उम्र के लोगों का मनोरंजन करने के लिए कुछ न कुछ है जैसे पार्क, बगीचे, मनोरंजक केंद्र, बोट क्लब, चिड़ियाघर और एक संग्रहालय यहां के प्रमुख आकर्षण हैं।यहा पर होने वाली बलून सफारी बड़ी संख्या में सहेलाणीयों को आकर्षित करती है, छुट्टियों का आंनद लेने के लिए यदि आप गुजरात आते हैं, तो आपको इस जगह पर घूमने का आनंद जरूर लेना चाहिए क्योंकी काकंरिया झील गुजरात में घूमने की सबसे अच्छी जगहों में से एक है।
तुलसीश्याम। Tulshishyam
सासणगिर की मनोरम्य प्रकृति और घनघोर जंगलो मे बसा पवित्र स्थल यानी 'तुलसीश्याम'। भगवान श्री हरी विष्णु और वृंदा यानी तुलसी का महीमा दर्शाता है यह स्थल, यहां पर वृंदा नाराज हो गयी थी! तुलसीधाम में भगवान श्यामसुंदर का मंदिर और ठंडे-गरम पानी के कुंड हैं जहा स्नान करने के बाद मंदिर में दर्शन करने का बडा महीमा हैं। यह पवित्र कुंड चर्म रोगीयों के लिए अभी तक फायदेमंद साबित हुआ हैं। यह उना के पास हैं इसलिए अगर आप दिव जा रहे हो तो यहा होकर जा सकते हैं, तुलसीधाम जूनागढ से लगभग 120km की दुरी पर हैं, यहा पास में कोई गॉंव या बस्ती नही हैं फिर भी आप यहा रुक सकते हैं, यात्रालु के लिए रुकने ठहरने की व्यवस्था की गई हैं।
मन को शांत करने वाली हरीयाली और प्राकृतिक सौंदर्य वाली यह जगह पर आप सिंह, हरण, निलगाय, चिता वगैरा कई तरह के जंगली जानवर देखने का भी मजा ले सकते हैं। यह सासणगिर जंगल का हिस्सा होने के कारण यहा जंगली जानवरो की आवा-जाही देखने को मीलती हैं। कृपया ध्यान रखें की प्रसाशन की और से रात के 8:00 बजे के बाद यहां प्रवेश करना मना हैं और सडक पर गाडी खडी रखना भी मना हैं। यह कोई हिल स्टेशन नही हैं ये एक धार्मिक जगह हैं लेकिन गर्मियों के दिनो में गुजरात के अन्य हिस्सो के मुकाबले यहां तापमान काफी कम रहता हैं, यहा आप कुंड में पवित्र स्नान कर सकते हैं, श्यामसुंदर मंदिर में दर्शन-पूजन कर सकते हैं, प्रकृति के करीब रह सकते हैं, जंगली जानवर की हलचल महेसुस कर सकते हैं। परिवार और मित्रों के साथ समय बिताने के लिए यह एक उत्तम जगह हैं।
द्वारका। Dwarka
दोस्तों यहा का तापमान भी गुजरात के अन्य हिस्सो के मुकाबले काफी कम रहता हैं, बेशक आप यहा गर्मियों के दिनो के दौरान अकेले, परिवार के साथ, जीवनसाथी के साथ या मित्रों के साथ यात्रा कर सकते हैं।
यहां पर श्री रणछोडराय का जगत मंदिर विश्व प्रसिद्ध हैं, गोमती के किनारे स्नान करने साथ आप लक्ष्मण झुले पर टहल सकते हैं, पांडव गुफा देख सकते हैं-दर्शन कर सकते हैं, तो साफ-सुथरे समुद्र किनारे आप बैठ कर समुद्र को देखने का भी मजा ले सकते हैं। बारह ज्योतिर्लिंग में से एक नागेश्वर ज्योतिर्लिंग भी यहां हैं, जहा आप दर्शन-पूजन कर सकते हैं। गोमती द्वारका से लगभग 33km दुर समुद्र में बसी बेट द्वारका आप बोट के द्वारा पहुच सकते हैं, जहा रुकमणी देवी मंदिर मुख्य हैं। बेट द्वारका पर्यटन के लिहाज से द्वारका का मुख्य स्पॉट हैं, जो डॉल्फिन प्वॉइंट, समुद्री भ्रमण, केम्पिंग और पिकनिक स्पॉट के रुप में काफी मशहूर हैं। इसके अलावा बेट द्वारका पौराणिक और ऐतिहासिक महत्व के लिए भी दुनिया भर में प्रसिद्ध हैं। ज्यादा जानकारी के लिए यहा क्लिक करें..

                        दोस्तों, वैसे तो गुजरात में पर्यटन के लिए बहुत कुछ हैं लेकिन हम बात कर रहे हैं गर्मियों के दिनो में छुट्टीयां बिताने की। अगर आप उत्तर भारत में उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, जम्मु और काश्मिर नही जा सकते हो या उत्तर भारत में घूम कर उबल चुके हो और गुजरात आकर छुट्टीयां बिताना चाहते हो तो यह चारों पर्यटन स्थल पर आप कम खर्च करके बढीयां मजा ले सकते हैं। आप जहा भी यात्रा करें वहा की सभ्यता-संस्कृति का आदर सम्मान जरुर करें और साफ-सफाई का जरुर खयाल रखें। आपको गुजरात में यात्रा संबंधी कोई जानकारी चाहीए या गुजरात में यात्रा का प्लानिंग करना हो तो आप नि:संदेह मुजे व्होटसऐप या ई-मेइल के जरीए संपर्क कर सकते हैं।
                          ।। जय माताजी, जय कुबेर ।।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां