सापुतारा हिल स्टेशन। गुजरात हिल स्टेशन। Saputara Hill Station। Gujarat Hill Station। Travel Teacher


नमस्कार दोस्तो,
भारत देश में हर राज्य के पास पर्यटकों के लिए अपना अलग आकर्षण और इतिहास हैं। और इन सभी राज्यो मे गुजरात एक ऐसा पर्यटन स्थलो से भरपुर राज्य है जिसे आप गवाना नही चाहेंगे! इस समृद्ध शांत गुजरात राज्य में मंदिरों, एैतिहासिक स्थलों, राष्ट्रीय उद्यानों, समुद्र तटों और अन्य बहुत सारे पर्यटन स्थलों की यहा भरमार हैं। जब आप गर्मीयो वाले दिनो में गुजरात में घूमने के लिए जगहो की तलाश कर रहे हैं, तो फिर आप बिलकुल सही जगह आर्टिकल पढ रहें हैं। मै आपको गुजरात के बहूत ही खूबसूरत हिल स्टेशन 'सापुतारा' के बारें मे जानकारी देने वाला हु। गुजरात के यह प्राकृतिक खूबसुरत हिल स्टेशन के बारे मे जो अन्य लोग नही जानते उनको आज मे इस पोस्ट के माध्यम से सापुतारा की जानकारी दुंगा, जिस से आप सापुतारा की सुंदरता, सापुतारा मे देखने वाली जगहें, सापुतारा मे घुमने वाली जगहें, सापुतारा मे क्या करें, सापुतारा मे क्या कर सकते हैं, सापुतारा कैसे घुमें, सापुतारा कैसें पहुचे वगैरा वगैरा आप सापुतारा की जानकारी पा सकेंगे।

सापुतारा जानकारी। Saputara jankari। Saputara information in Hindi
भारत मे सापुतारा गुजरात राज्य का एक प्रसिद्ध और खूबसुरत हिल स्टेशन हैं,जो डांग जिले के जंगलो और सह्याद्री पर्वतमाला से सटा हुआ हैं। समुद्र सतह से लगभग 870 मीटर की उंचाई पर बसा यह हिल स्टेशन गुजरात का शानदार शहर भी हैं। इसको लेकर एक पौराणिक कथा है, कि भगवन राम अपने वनवास के दौरान एक लंबे समय तक यहाँ रुके थे। सापूतरा का मतलब है 'नागों का वास'। डांग वन जहां सापूतरा स्थित है, वहां की जनसंख्या में 90% आदिवासी हैं और ये आदिवासी नागपंचमी या होली जैसे त्योहारों के दौरान सर्पगंगा नदी के तट पर साँप की एक छवि की पूजा करते हैं।यह आदिवासी बहुमूल इलाका होने के कारण यहा आप आदिवासी संस्कृति, कला, परंपरा को करीबी से अच्छी तरह जान सकते हैं-जुड सकते हैं और अपनी सापुतारा हिल स्टेशन की विजिट को ज्यादा आनंदित बना सकते हैं। सापुतारा शब्द का अर्थ होता हैं 'सापों का घर', यहा बेहने वाली सर्पगंगा नामक नदी के किनारे सांप देवता का एक छोटा मंदिर है जहा यहा के आदिवासी पूजा करते हैं। सापुतारा की खूबसूरत पहाड़ियों के बीच आरामादायक छुट्टीयां बिताने के लिए होटल, पार्क, स्विमिंग पूल, बोट क्लब, सिनेमाघर और संग्रहालय जैसी सभी सुविधाएं पर्यटकों के लिए उपलब्ध हैं। यहां हर साल सापुतारा मौनसून फेस्टिवल का आयोजन किया जाता है। इस फेस्टिवल में बारिश के बीच प्रदर्शन, कला-कौशल के साथ सांस्कृतिक कार्यक्रमों, भोजन महोत्सव, खेल, प्रतियोगिताएं के साथ साथ बोट राइडिंग और रोप-वे का मजा भी उठा सकते हैं। तो दोस्तो, आइए जानते हैं यह हिल स्टेशन आपको किस प्रकार आनंदित कर सकता है।

सापुतारा के मुख्य आकर्षण।
सापुतारा लेक, गांधी शिखर, इको प्वाइंट, वैली व्यू प्वाइंट, गिरा, गिरमाल और मायादेवी जलप्रपात, शाबरी धाम, पंपा सरोवर, पांडव गुफा, उनाई मंदिर, सितवन, रतज प्राप, धुपगढ़ के निकट त्रिधारा, हटगध किला, वन नर्सरी और आदिवासी संग्रहालय वगैरा सापुतारा के मुख्य आकर्षण है।

सापुतारा झील। Saputara Zeel

अगर आप मानते हो की उदयपुर और भोपाल ही झीलो का शहर हैं,तो सापुतारा की विजिट के बाद आप मानने लगेंगे की और एक शहर सापुतारा भी झीलो का शहर हैं। यह झील सापुतारा हील स्टेशन को और भी खूबसूरत बनाती हैं,यहा आप बोटींग-नाव की सवारी का आनंद अपने बजेट मे ले सकते हैं क्योकी,यहा बोटींग की सेवाएं सरकार द्वारा संचालित की जाती हैं! तो दुसरी और झील की चारों और बिखरी हरीयाली आपका मन मोह लेगी। सापुतारा के बिच मे स्थित यह सुदर, मनोहारी झील पर्यटको और सहेलाणीयों का मुख्य आकर्षण हैं। सापूतारा झील को सापुतारा का मुकुट भी कहा जाता है, यहां आप बोटिंग के साथ-साथ ट्रैकिंग का मजा भी ले सकते हैं। यह झील का वातावरण इतना शांत होता है कि आस आप वृक्षों पर बैठे पक्षीयो के सुरीले स्वर साफ सुनायी देते है।

सापुतारा लेक गार्डन। Saputara Lake Garden
यहीं झील के नज़दीक ही बहुत शांत और खूबसूरत सापुतारा लेक गार्डेन हैं। इसमें बहुत ही मनोरम्य हरीयाली और कई तरह के खबसूरत पेड़ भी हैं। सापूतारा झील के चारों और बना यह सुंदर लेक गार्डन पर्यटको को खूब लुभाता है। यह पिकनिक मनाने के लिए एक खूबसूरत जगह साबित हो सकती है।

सन पॉइंट सापुतारा। Sun point Saputara 
सापूतारा में सूर्योदय और सूर्यास्त देखना बेहद ही रोमांचित पल साबित हो सकती है। सूर्योदय के देखने के लिए आपको यहां बने हुए सन पॉइंट जाना होगा। वाकई में यहां से उगते हुए सूर्य को देखना काफी दिलचस्प और लुभावना है। तो दुसरी और सापुतारा में सूर्यास्त पॉइंट गांधी शिखर के नाम से जाना जाता हैं जहा पर्यटक,सहेलाणी सापुतारा हिल स्टेशन मे ढलते सूर्य का एक लुभावने दृश्य का मजा ले सकते हैं।

रोप-वे सापुतारा। Rope way Saputara
सापुतारा के आकर्षणों में कुछ ही समय पहले एक नया आकर्षण जुड़ा है,जी हा दोस्तो वो आकर्षण हैं रोप-वे। सामान्य नि:शुल्क मे आप उंचाई से सापुतारा की खुबसूरती देखने का मजा ले सकते हैं। यह रोप-वे गवर्नर हिल वाले रास्ते में पड़ता है। यह रोप-वे से आप सीधे सनसेट प्वाइंट तक पहुंच सकते हैं। दूर तक फैली सापुतारा की खुबसूरती देखने का आनंद ले सकते हैं।

स्टेप गार्डन सापुतारा। Step Garden Saputara
यह एक सीढीनुमा बाग है,जो देखते ही आखों को ठंडक पहुचाता हैं। बहूत ही खूबसूरत इसकी सजावट हर पर्यटक या सहेलानी को अपनी और आकर्षित करता हैं। यहां के हर स्टेप को खुबसूरत पौधो से सजाया गया है। इस बाग के बीच मे एक फॉरेस्ट हट भी है। जिसमे थकान मिटाने के लिए कुर्सिया बिछाई गई है। ठीक उसी तरह जिस तरह के सीढीनुमा खेत उत्तरांचल मे बने है,बस फरक इतना है कि वहां के खेतो मे खेती की जाती है और मनोरम्य नजारा बनता हैं।

सापुतारा एडवेंचर पार्क। Saputara adventure park
यहा पर आप सुबह 8 am से शाम 6 pm तक रॉक क्लाइंबिंग से लेकर ज़िप लाइन जैसी एडवेंचर एक्टिविटी का मजा ले सकते हैं। यंगस्टर्स के लिए गवर्नर हिल पर सनसेट पाइंट के पास बना है सापुतारा एडवेंचर पार्क। यहा तक पहुंचने के लिए आपको टेबल प्वाइंट तक जाना होगा। टेबल प्वाइंट के नजदीक ही यह पार्क है जहा पर पैराग्लाइडिंग भी की जाती है लेकिन लेकिन बारिश के दिनो मे पैराग्लाइडिंग नहीं होती।

बंसदा नेशनल पार्क। Bansada National Park
सपुतारा का यह नेशनल पार्क 24 km क्षेत्र में फैला हुआ है और मूल रूप से यह जंगल एक समय पर यहा के महाराजा का निजी जंगल हुआ करता था। यहां शेर, चीते, साप, अजगर, पैंगोलिन, स्पॉटेड कैट्स और बड़े आकार की गिलहरियां के साथ कई जानवर आप देख सकते हैं। अलग अलग पैड-पौधे वाला यह जंगल प्रकृती प्रेमीयो को लंबे समय तक सुनहरी यादें दे सकता हैं।

आर्टिस्ट विलेज सापुतारा। Artist village Saputara
कला प्रेमीयो के लिए यह आर्टिस्ट विलेज बेहद ही खास हो सकता हैं क्योंकी,यह पूरा गांव सुंदर कलाकृतियों से युक्‍त हैं। यह सुंदर जगह, कलाकार वाला गांव कला प्रेमीयो के लिये इसलिए खास है की यहा आने वाले लोग न केवल कलाकृतियों का आनंद उठा सकते हैं,और खरीद सकते हैं बल्कि वहां की कुछ कारीगरी पर हाथ भी आजमा सकते हैं। इसके अलावा, उचित दाम पर गांव में ठहरने की भी व्‍यवस्‍था हो सकती है।

नागेश्वर महादेव सापुतारा। Nageshwar Mahadev Saputara
नागेश्वर महादेव यहां का प्रमुख मंदिर है जो यहा के आदिवासीयो के आराध्य और प्रमुख देवता हैं,जो झील के पास ही स्थित है। सुंदर और आनंद दायक वातावरण मे बसे यह मंदिर मे सांप की एक बडी आकृति बनी हुई है। यहां पर पूजा दर्शन कर सकते हैं और मनोरंजन के लिए बच्चो के साथ आप घोडे की सवारी का भी आनंद उठा सकते है।

गिर वॉटर फॉल सापुतारा। Gir waterfall Saputara
वघई शहर से 3 किमी की दूरी पर स्थित गीरा झरना 30 मीटर की ऊंचाई से गिरते हुए अंबिका नदी में मिलता है।

सापुतारा मे क्या करें। Saputara me kya karein। What to do in Saputara
सापुतारा को एक रोमेंटीक जगह के तौर पर भी जाना जाता हैं। सापुतारा के चारों और हरी-भरी पहाडीयां यहा आने वाले हर सहेलानी को मंत्रमुग्ध कर देती हैं। सापुतारा गुजरात और महाराष्ट्र की सरहद पर बसा बहुत ही मनोरम्य हिस़ल स्टेशन हैं। पथरीली सतह,पहाडी इलाका,घनघोर जंगल,झील वगैरा कुदरती करामतें सापुतारा को और भी खूबसूरत बनाती हैं। गरमी के दिनो मे भी यहा का तापमान 30ं से उपर नही जाता यानी भारत भर मे जब गरमी का प्रकोप रहता हैं तब भी यहा का वातावरण खुशनुमां रहता हैं। सापुतारा आप अकेले,साथी,परीवार या अपने मित्रो के साथ घुम सकते हैं और प्रकृति की जी भर आनंद ले सकते हैं। यहा पर आप साथी या परीवार के साथ बोटींग करना,पैरा ग्लाईडींग,सनसेट,सनराईज,कला प्रदर्शन,साथी के साथ समय बिताना,परीवार के साथ समय बिताना,प्राकृतिक नजारे,प्रकृति से जुडना,ठंडी हवाओ का मजा लेना,रोप-वे का मजा लेना वगैरा आप यहा कर सकते हो।

सापुतारा मे क्या खरीदें। What to buy in Saputara

यह जगह सिर्फ अपने सौंदर्य के साथ साथ यहा के स्थानीय शिल्प के लिए भी उतनी ही प्रसिद्ध हैं,जब आप सापुतारा मे हो और कुछ खरीदारी करना चाहते हो या फिर कोई खास चिज का तोहफा खरीदना चाहते हो तो आप जरुर यहा के आदिवासीयों द्वारा निर्मित हस्तकला की चिजें खरीद सकते हैं। गंधर्वपुर आर्टिस्ट विलेज में आदिवासी कलाकृतियाँ और हस्तशिल्प स्थानीय आदिवासी डांगी संस्कृती की आप यहां कई कलाकृतियां खरीद सकते हैं। आप यहा से कम दाम मे शुद्ध शहद भी खरीद सकते हैं, सापुतारा की पहाडीया शहद के लिए भी उतनी ही प्रतिष्ठित हैं। सापुतारा झील के बगीचे के पास स्थित हनी मधुमक्खियों के केंद्र में आने वाले व्यक्ति, आगंतुक यह जान सकते हैं की मधुमक्खियों की देखभाल कैसे की जाती है और शहद का निर्माण कैसे किया जाता है। अन्य एक चिज आप आहवा से डांगी सारी भी खरीद सकते हो,जो वहा के स्थानीय बाजार मे बहुत ही प्रसिद्ध हैं। और एक जगह अांबापाडा से आप बांस की शिल्प वाली कुछ चिजें भी आप खरीद सकते हैं,जो इस क्षेत्र मे बहुत ही प्रसिद्ध हैं। ये आइटम आपके और आपके परिवार के लिए कुछ वास्तव में आउट-ऑफ-द-बॉक्स स्मृति चिन्ह, उपहार और घर की सजावट के सामान बना सकते हैं।

सापुतारा कैसे पहुचें। How to reach Saputara


हवाई मार्ग से सापुतारा कैसे पहुचें। How to reach Saputara by air

सापुतारा रे सबसे नजदीकी हवाई अड्डा सूरत इंटरनेशनल एयरपोर्ट हैं,जो 172 किमी हैं। मुंबई का छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट 225 किमी दुर हैं। वहा से आप केब,टेक्षी या राज्य सडक परिवहन की बस के द्वारा आप सापुतारा पहुच सकते हैं।

रेल मार्ग से सापुतारा कैसे पहुचें। How to reach Saputara by train
नैरोगेज रेलवे स्टेशन: वघई रेलवे स्टेशन  km 49km दुरी पर स्थित पर हैं।
ब्रॉड गेज रेलवे स्टेशन: बिलीमोरा रेलवे स्टेशन 110km दुरी पर स्थित हैं।

सडक मार्ग से सापुतारा कैसे पहुचें। How to reach Saputara by road
सापुतारा के लिए आहवा, वघई, बिलिमोरा, सूरत, वलसाड, वडोदरा, राजपीपला, अहमदाबाद, नासिक, सप्तश्रृंगी गढ़, कलावन, शिरडी, गुजरात और महाराष्ट्र राज्य परिवहन बसें उपलब्ध हैं। सापुतारा सूरत से 172 km, वघई से 49 km बिलीमोरा से 110 km, नासिक से 80 km दूर है। मुंबई से 185 किमी की दूरी पर स्थित है।

दोस्तो, आप दुनिया मे कही भी यात्रा करें सफाई और पर्यावरण का खयाल जरुर रखें। वहा की सभ्यता-संस्कृति का आदर सम्मान जरुर करें। आशा रखता हु यह जानकारी आपको पसंद आयी होगी और साथ ही कामना करता हु की आपकी यात्रा आनंदमय मंगलमय हो।
                     ।।जय माताजी,जय कुबेर ।।

'ट्रावेल टिचर' ब्लॉग का समर्थन करें, वेबसाइट को चालू रखने में मेरी सहायता करें। आपकी एक छोटी सी मदद मुजे भारत के बेहतरीन पर्यटन स्थल और हिंदु, बौद्ध, जैन, शीख जैसे धर्मो के धार्मिक स्थल की महत्वपुर्ण जानकारी ब्लॉग के माध्यम से दुनिया के सामने रखने के लिए उत्साहित करेगी। आपका स्वैच्छिक योगदान मेरे ब्लॉग को जारी रखने में और भारत देश का त्याग,बलिदान,समर्पण,शौर्य,पराक्रम,विरता वाला गौरवपुर्ण इतिहास पर्यटन जानकारी के द्वारा दुनिया के सामने रखने में सहायक साबित हो सकता हैं।  कृपया उस राशि का भुगतान करें जिसके साथ आप सहज हैं; ₹10 से लेकर ₹10000 तक कुछ भी भुगतान कर सकते हैं।

Pay with PayPal
नोट: ब्लॉग-वेबसाइट को चालू रखने के लिए मुजे पैसे खर्च करने पड़ते हैं, यदि आप गुणवत्ता और मेरें प्रयासों से संतुष्ट हैं तभी मेरी सहायता के लिए विचार करें। हम आपसे
स्वैच्छा से भुगतान करने के लिए कह रहे हैं जो आपने
पहले ही पढ़ा हैं। हालाँकि यह कोई दान नहीं है,कृपया ध्यान दें कि आपको कर कटौती नहीं होगी जैसा कि दान के साथ होता है। आपके विचार करने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद।
                      

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां