बालात्कार से बचने के सटीक उपाय।Exact Ways to avoid rape। Travel Teacher।Hindi Article।


यह आर्टिकल, मर्दवादी विचारधारा और गंदी सोच का शिकार हुई सभी निर्भया,सभी डॉ.प्रियंका रेड्डी को समर्पित।
                        बहन,बेटीया,माताए,सभी से मेरा एक नम्र निवेदन है,आप जहा भी ट्रावेल करे चाहे-पर्यटन के लिए,नौकरी के लिए,कामकाज के लिए,बिझनेस के लिए,विशेष कार्यक्रम के लिए या किसी और वजह से ट्रावेल कर रहे हो,अपनी सुरक्षा के लिए विशेष ध्यान रखे। पर्यटन के लिए ट्रावेल करते हो तो, छोटे शहर-नगर ग्रामीण इलाको मे कपड़े पहनने और व्यवहार करने में सावधानी बरते। अंधेरे के बाद बाहर निकलने से बचें, यह किसी भी छोटे शहर और ग्रामीण इलाके में असुरक्षित है। छोटे शहर और ग्रामीण एरीया होने के नाते किसी भी मामले में सब कुछ जलदी बंद हो जाता है और सुनसान हो जाता है।

                        दोस्तो,आजका यह आर्टिकल ट्रावेल से हटकर, सिर्फ और सिर्फ समस्त स्त्री जाति के लिए है। एक निर्भया के मरने के बाद हर दिन, हर साल कितनी ही निर्भयाएं बनती जा रही हैं, उन मर्दों की बदौलत जो अपनी काम इच्छा को बस में नहीं कर पाते।अपनी शारीरिक भूख को पूरा करने या गंदी मानसिकता के कारण कुछ लोग ऐसे कुकर्म करते हैं जो किसी महिला की सारी जिंदगी बर्बाद कर देता है।अपराधियों को कानून का डर ही नहीं है और वे अपनी मर्दवादी विचारधारा को लेकर खुलेआम घूम रहे हैं।वो सोचते हैं कि ज़बरदस्ती करना कोई कड़ी सज़ा पाने वाला काम नही है।
                        यौन उत्पीड़न और बलात्कार से बचने में मदद के लिए सावधानीया और जागरूकता आपका सबसे अच्छा बचाव हो सकता। घटना-दुर्घटना पर हमारा कोई बस नहीं होता वो,अचानक ही घटीत होती है लेकिन सतर्कता, सावधानियां और होशियारी हमें हालातो से बचा सकती है। हमारे देश मे बलात्कार की बढ़ती घटनाओं को ध्यान मे रख के हर बहन,बेटी,माँ को कुछ आवश्यक सावधानियां अवश्य बरतनी चाहिए। कानून,पुलिस अपना काम अपनी तरह से करंगे पर हमें भी उनका इंतजार करने के बजाय एसे खतरे मे आपको अपनी लडाई खुद लड़नी चाहिए।

सतर्कता :-
1.सेल्फ डिफेंस का कोर्स करें।आपका हौंसला ही आपकी ताकत है। कितनी भी ट्रेनिंग किसी काम की नहीं जब तक आप अपनी हिम्मत से अपनी लड़ाई खुद नहीं लड़ती।पर डिफेंस स्किल और हिम्मत से आप बडे खतरे को भी टाल सकती हो

2.अपने पर्स में हमेशा मिर्च पॉवडर और ब्लेड रखें। आजकल मिर्च स्प्रे भी बाजारों में मिलने लगे हैं। यह सावधानी बचाव में 100 प्रतिशत कारगर है।

3.अपना मोबाइल हमेशा रिचार्ज रखे।खतरा महेसुस होने पर अपने परिवार से अपना लोकेशन शेर जरुर करे।अपने कुछ करीबी लोगों को कुछ कोड वर्ड देकर रखे जैसे आपके पास मेरा कॉल आए और मैं कुछ ना बोलु तो समझ जाएं कि कोई मुश्किल है,वगेरा।

4.यदि आपको लगता है कि आप पर हमला होने का खतरा है तो इससे दूर भागने की कोशिश करें। किसी भी तरह से कोशिश करें कि आप खुद पर ध्यान केंद्रित कर सके। कभी भी गुंडों से ना तो बहस करें ना ही उनके आगे लाचार बने। घबराए नहीं,अपने आप पर विश्वास रखें और चतुराई से परिस्थिति से निपटें। घोर संकट में भी बच निकलने का एक छोटा रास्ता जरुर होता है।

5.अगर  कहीं पर गुंडों - बदमाशो के बीच घिर जाएं तो पुरुष के नाजुक अंग पर पूरी ताकत से वार करें या कही पर काटने की कोशीश करे।उसकी आँखों को अपने दोनों हाथो की उंगलीयो से पूरी तरह से नोंच डालें फिर मौका मिलते ही उसके सर पर कोई जोरदार प्रहार करें और तेज गति से वहा से भाग निकलें।

अग्रिम सावधानीया :-

होटल,होस्टेल,रेसिडेंस होल आपर जगह पर :
घर पर सभी दरवाजों पर अच्छे ताले स्थापित करें,होम सिक्युरिटी सिस्टम लगी हो तो और भी अच्छा। सुनिश्चित करें कि सभी खिड़कियां -लॉक और अच्छी तरह से सुरक्षित हैं। यदि कोई बिक्री या मरम्मत करने वाला व्यक्ति वैध है, तो वे पहचान को देखने के लिए पूछना नहीं चाहेंगे और वे जिस कंपनी का प्रतिनिधित्व करते हैं,उसकी पहचान की पुष्टि करेंगे। निवास हॉल कर्मचारी या होटल के कर्मचारी आपके दरवाजे पर दस्तक देने पर खुद की पहचान करने में कोई आपत्ति नहीं करेंगे।

यदि कोई अजनबी आपके दरवाजे पर सहायता के लिए अनुरोध करता है जैसे फोन कॉल, कार की परेशानी, आदि तो उसके लिए आवश्यक लोगों को कॉल करने की पेशकश करें।
किसी अजनबी के लिए अपना दरवाजा खोलकर खुद को खतरे मे मत डाले,खासकर यदि आप अकेले घर पर हैं।
अपने पर्दे या लाइट रात में बंद कर दें ताकि बाहर के लोग यह निर्धारित न कर सकें कि निवास में कौन है।

कार,टेक्षी,ओटो,बस,पार्किंग :
कार,टेक्षी,ओटो में बैठने से पहले हमेशा फर्श और पीछे की सीट की जांच करें।जब कहीं अकेले बस, ऑटो या कार में सफर करें और ड्राइवर या अन्य व्यक्ति पर जरा भी शक हो तो अपने मोबाइल से नकली बातचीत करें। जैसे- अच्छा मैं यहां तक पहुंची हूं आप से बस थोड़ी ही दूर हूं। अच्छा आप आ रहे हैं गाड़ी लेकर वगेरा वगेरा। इस तरह की बातचीत से आप किसी भी दुर्घटना की कुछ संभावनाएं कम कर सकती हैं।

यदि आपको संदेह है कि गाड़ी चलाते समय आपका पीछा किया जा रहा है तब तक चलते रहें - तब तक न रुकें और जब तक आप किसी ऐसी जगह पर न पहुँच जाएँ जो अच्छी तरह सुरक्षित हो और जहाँ आपकी सहायता करने के लिए अन्य लोग हों।यदि संभव हो तो निकटतम पुलिस स्टेशन में ड्राइव करें ताकि उन्हें पता चल सके कि आपका पीछा किया जा रहा है।

खराब या कम रोशनी वाले पार्किंग से बचे।यदि कोई आपको रोकना और आपकी सहायता करने की पेशकश करे तो बस खिड़की को नीचे रोल करें उन्हें यह बताने के लिए कि वे आपके लिए पुलिस को कॉल कर सकते हैं।

डेटिंग,पार्टी,नाईट क्लब :
आपको "नहीं" कहने का पुरा अधिकार है।सुनसान स्थानों में अकेले रहने से बचें और यदि कोई आपको एकांत क्षेत्र की ओर ले जा रहा है,तो जितनी जल्दी हो सके दूर जाने की कोशिश करें। बलात्कार की संभावना तब बढ जाती है जब एक या दोनों व्यक्ति ड्रग्स या शराब के प्रभाव में हों। शराब के सेवन की सीमा निर्धारित करें या फिर शराब से बिलकुल दुर रहै तो और भी अच्छा।नशा करने वाले दोस्तों से दूरी रखें और स्वयं भी नशे से बचें। यह सावधानी 90 प्रतिशत बचाव कर सकती है। बलात्कार के ज्यादातर मामलों में आरोपियों द्वारा शराब का सेवन करना सामने आया है।

ध्यान दे की आपके ज्युस या सोफ्ट ड्रिंक मे कुछ नशीली चिज मिलायी तो नहि गयी है।जिसे अच्छी तरह जानते हो या विश्वास करते हो एसे लोगो से ही कुछ पीने के लिए स्विकार करे।खास दोस्तों के साथ ही बड़ी पार्टियों में भाग लें जिन पर आप भरोसा कर सकते हैं। हमेशा अपने समूह के साथ जाने की कोशिश करें, अकेले या अनजान व्यक्ति के साथ कही भी ना जाये।

एक इमारत में अलग-थलग स्थानों पर न जाएं, यदि आपको जाना है तो, किसी मित्र को ले जाएं। हमेशा पीछे घूमें और देखें कि आपके पीछे कौन हो सकता है।नाइट क्लबों जैसे भीड़ भरे स्थानों में हमेशा किसी को बताएं कि आप कहां होंगे।

सोशियल मिडीया वार्तालाप :
एसा जरूरी नहीं कि आप जिस बात को हल्के-फुल्के अंदाज में ले रही हैं आपका मित्र भी उसे उसी रूप में लेता हो।अपने हम उम्र मित्रों को एसएमएस, फेसबुक या अन्य किसी माध्यम से सीमा से अधिक मजाक करने की अनुमति ना दें। जब भी कोई आपत्तिजनक सामग्री आप अपने मित्र या किसी व्यक्ति से प्राप्त करें,तुरंत कड़े लफ्जों में चेतावनी दें।अश्लील जोक्स, संदेश और चित्रों का विपरीत लिंग से भूल कर भी आदान-प्रदान न करें।चाहे मित्रता गहरी हो लेकिन कब किसके दिमाग में किस चीज को लेकर कौन सा विकार आ जाए यह आप नहीं जानते।टेलीफोन या इंटरनेट पर किसी भी व्यक्तिगत जानकारी का खुलासा करने के बारे में सतर्क रहें।

मोर्निंग वॉक,जोगींग :
यदि आप व्यायाम के लिए चलते या टहलते हैं तो, सड़क पर अपने मार्ग और समय को बदलने की कोशिश करें।यदि कोई व्यक्ति,स्थान या कोई स्थिति आपको असहज बनाता है, तो उसे तुरंत छोड़ दें या बदल दें।निर्जन और सुनसान इलाकों में अकेले या हमउम्र साथियों के साथ जाने से बचें।

                        हालांकि अपराधी वृत्ति के लोग उम्र, रिश्ते और परिधान से परे गंदी सोच रखते हैं लेकिन कई मामलों में अपनी सुरक्षा के लिए बरती गई यह सावधानी इस तरह की दुर्घटना की संभावना को कम करती है । आप चाहे आधुनिक वस्त्र धारण करें लेकिन आपकी बोडी लेंग्वेज भड़काऊ ना हो इस बात का भी खयाल रखें। मनोविज्ञान कहता है कि स्पर्श सीधे मन पर असर डालता है। स्पर्श एक सीमा के बाद किसी भी रिश्ते को नहीं जानता,वह सिर्फ संतुष्टि मांगता है। सावधानी के स्तर पर लड़की अपनी सुरक्षा अपने कुशल व्यवहार से कर सकती है। अपने को छुने देने का हक आप स्वयं तय करें। जहां स्पर्श गलत लगे वहां तुरंत सबके बीच कहने का साहस रखें,डरे नहीं। यौन हमला या बालात्कार की शक्यता की तुलना मे कुछ मिनटों की हिम्मत,सामाजिक अजीबता,शर्मिंदगी,सावधानीया,कइ गुना अच्छी है।

नोट: यह आर्टिकल कानूनी सलाह का विकल्प नहीं है।
व्यक्त किए गए विचार मेरे निजी विचार हैं यह कोई आधिकारिक बयान नहीं हैं। किसी भी व्यक्ति, घटना या स्थान से समानता एक संयोग मात्र हो सकता है। मे यह नहि कहता कि सभी को इस विचार का पालन करना चाहिए।समाज मे सदभावना और स्त्री सुरक्षा के उद्देश के लिए एक जानकारी मात्र है।
                        ।। जय माताजी,जय कुबेर ।।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां